ठेकेदार कैसे बने? Contractor Licence Registration Kaise Kare

Name of service:-ठेकेदार का लाइसेंस कैसे बनता है
Post Date:-08/12/2021
Post Update Date:-
Beneficiary:-Contractor
Apply Mode:-Online
Department:-Rural Works Department Govt. Of Bihar
Short Information:-आज हम बात करेंगे Contractor Licence Registration, ठेकेदार (Contractor) कैसे बने, Contractor Type, ठेकेदार का लाइसेंस कैसे बनता है आदि के बारे में और इसी कारण आपको इस पोस्ट को पढ़कर Contractor Licence Apply से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी इसलिए इस पोस्ट पर अंत तक जुड़े रहे |

विषय की सूची

ठेकेदार क्या है? (What is Contractor in Hindi)

अगर कोई व्यक्ति किसी भी भवन या किसी ईमारत को बनाने का करता है या अपने मजदूरो द्वारा करवाता है या मरम्मत करवाने का काम करता है तो ऐसे व्यक्ति को ठेकेदार (Contractor) कहते है |

मान लीजिए कि अगर आप ही किसी मकान या इमारत को बनवाने के लिए सारा काम किसी व्यक्ति को देना चाहते हैं तो उसका ठेका देने से पहले आपको उस ठेकेदार के बारे में कुछ जरूरी जानकारी पता करने की आवश्यकता होती हैं | इसीलिए अगर कोई ठेकेदार बनना चाहता है तो उसके लिए कई जरूरी डाक्यूमेंट्स भी लगाए जाते है, और सिक्योरिटी के तौर पर कुछ पैसे भी जमा करवाए जाते है, इन प्रक्रियाओं के पूरी हो जाने के बाद ही किसी व्यक्ति  को ठेकेदार बनाया जाता है |

किसी भी भवन को बनाने में ठेकेदार सबसे अधिक जिम्मेदार व्यक्ति होता है क्योंकि जिस व्यक्ति को ठेकेदार की जिम्मेदारी सौंपी जाती हैं भवन के बनाने और उसके जोड़ी सारी जिम्मेदारियों ठेकेदार पर ही होती हैं| यदि वह अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है तो उसे इस पद से निरस्त भी किया जा सकता है |

अब अगर आप भी ठेकेदार बनना चाहते है, तो इस पोस्ट में आपको यहाँ पर आपको Contractor Licence Registration, ठेकेदार (Contractor) कैसे बने, योग्यता, आवश्यक गुण, ठेकेदार का लाइसेंस कैसे बनता है आदि के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी इसलिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें |

ठेकेदार के प्रकार

ठेकेदार मुख्य रूप से चार प्रकार होते हैं जो इस प्रकार से है-

  1. ए ग्रेड ठेकेदार (A Grade Contractor)
  2. बी ग्रेड ठेकेदार (B Grade Contractor)
  3. सी ग्रेड ठेकेदार (C Grade Contractor)
  4. डी ग्रेड ठेकेदार (D Grade Contractor)

यह भी पढ़े:-

Contractor licence (ठेकेदार लाइसेंस) kya hai

Contractor licence Bihar के बारे में अगर आसान भाषा में समझे तो जिस प्रकार आपको किसी गाड़ी को चलाने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार यदि आप किसी भी भवन या इमारत को बनाने के लिए ठेकेदारी प्रस्तुत करते हैं तो इसके लिए आपको Contractor licence की आवश्यकता पड़ती है, यह Contractor licence इस बात का सबूत तो होता है कि आप कितने सक्षम ठेकेदार हैं तथा आप अपने काम को कितने बखूबी तरीके से करते हैं |

अगर आप बिहार राज्य के निवासी हैं एक ठेकेदार हे या ठेकेदारी शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले Bihar Contractor licence के लिए आवेदन करना चाहिए, ठेकेदार लाइसेंस आवेदन करने की प्रक्रिया सरकार द्वारा ऑनलाइन शुरू की गई है | अगर आप बिहार कांट्रैक्टर लाइसेंस के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इससे जुड़ी और अधिक जानकारी हमने आपको नीचे पोस्ट में इसलिए आप इस पोस्ट को जरूर पढ़ें|

Contractor Licence Registration Related Documents

  • Valid PAN Card (clean scan copy of PAN Card)
  • Aadhar Card(scan copy of aadhar card)
  • Email Id
  • Mobile Number for OTP
  • Need a clean scan copy of Signature
  • Power Of Atorney के बारे में जानकारी
  • Passport Size Photograph of Individual and Partners
  • Need Scan Copy Of PAN/Aadhar/Holder Poa/Signature/ Copy of Power of Atorney in Case Of POA
  • GST Copy.
  • Cancel Cheque Copy.
  • (All Photos/Aadhar/PAN/Signature Images must be less than 50 KB)

Contractor Licence Registration Documents in company registration

  • MOA,AOA,MCA21,
  • Company Pan
  • incorporation certificate.
  • In case of Partnership Firm – Partnership Deed and (Firm Pan).
  • Self-attested copies Of all the document including Photo.
  • Self-attested copies Of all the document including Photo
  • (All Photos/Aadhar/PAN/Signature Images must be less than 50 KB)

अगर आपको कोई भी Documents Resize करना है तो आप इस वेबसाइट Photo/Signature resize के थ्रू कर सकते हैं

यह भी पढ़े:-

Important Link

Bihar Contractor Licence RegistrationClick Here
Upgrade Contractor RegistrationClick Here
Contractor Login Click Here
Bihar Contractor Licence Eligibility Click Here
Rules For Contractor Click Here
Contractor DetailsClick Here
Affidavit for Individual Contractor LicenceClick Here
Affidavit for CompanyClick Here
Contractor Bid CalculatorClick Here
Contractor BlacklistClick Here
Rural Works Department Govt. Of BiharClick Here
Bihar Official WebsiteClick Here
Note:-
एक बार लाइसेंस बनवाने के बाद वह 5 साल तक ही मान्य होगा, व 5 साल बाद आपको फिर से रिन्यूअल करवाना होगा |

Contractor Licence (ठेकेदार लाइसेंस) Eligibility

ग्रामीण कार्य विभाग में संवेदक में संवेदक के रूप में कार्य करने हेतु वांछनीय अर्हता/योग्यता :-

  • श्रेणी 1 : किसी भी राशि के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम।
  • श्रेणी 2 : 3.5 करोड़ रूपये तक के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम।
  • श्रेणी 3 : 70 लाख रुपये तक के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम।

Contractor Licence (ठेकेदार लाइसेंस) Price

अगर आप तो ठेकेदार लाइसेंस बनवाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए श्रेणी के अनुसार निबंधन शुल्क यानी कि Contractor Licence Registretion Fee का भुगतान करना होगा,

  • अलग-अलग प्रकार की श्रेणी के लिए Bihar Contractor Licence Registretion Fee निम्न प्रकार होगा:-
  • श्रेणी 1: 200000.00 (दो लाख रूपये)
  • श्रेणी 2 : 100000.00 (एक लाख रूपये)
  • श्रेणी 3 : 25000.00 (पच्चीस हजार रूपये)

ठेकेदारी का लाइसेंस कैसे बनवाएं

Contractor Licence (ठेकेदार लाइसेंस) Kaise Banaye

चलिए अब हम ठेकेदार लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जान लेते हैं, Contractor Licence Registration Process कुछ इस प्रकार है:-

  • कांट्रेक्टर लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको ऊपर दी गई लिंक के माध्यम से Rural Works Department Govt. Of Bihar ऑफिशल वेबसाइट पर जाना है |
  • जैसे ही आप Bihar RWD की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएंगे सबसे पहले आपके सामने होम पेज ओपन होगा|
  • होम पेज पर आपको कई अलग-अलग प्रकार के टाइप दिखाई देंगे लेकिन आपको Contractor Licence के लिए आवेदन करने हेतु Contractor की टैब पर क्लिक करना है|
  • यहां पर से आपको Contractor Registration के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है|
  • अब आपको Register/Upgrade new Contractor के आप्शन पर क्लिक करना है |
  • यहां पर आपको आवेदन करने के लिए लगने वाले सभी जरूरी दस्तावेजों की सूची दिखाई देगी |
  • अब आपको Apply For New Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने कुछ इस प्रकार से पेज ओपन होगा|
contractor licence (ठेकेदार लाइसेंस) registration
  • अब आपके सामने ठेकेदार रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओपन हो जाएगा जहां पर आपको निर्णय जानकारी देनी है:-
    • Contractor’s Type में आपको अपना प्रकार बताना है, अर्थात कि आप किस प्रकार के कांट्रेक्टर हैं|
    • Class Type के अंदर आपको अपनी श्रेणी निर्धारित करनी है|
    • Enter Name के विकल्पों पर आपको अपना नाम डालना है |
    • Enter Father Name में पिता का नाम देवे|
    • Enter Address में आपको अपना पूरा पता लिखना है
    • Enter Pincode मैं आपको अपने पिन कोड डालना है |
    • District And State
    • Enter Email ID
    • Date Of Birth
    • PAN No.
    • Aadhar No.
    • Enter Mobile No
  • इन जानकारी देने के बाद अंत में आपको आपके नंबर पर प्राप्त होने वाला ओटीपी बताना है |
  • ओटीपी डालने के बाद आप समिति के ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं
  • क्लिक करते ही आपका Contractor Licence Registration पूरा हो जाएगा |

Contractor Licence (ठेकेदार लाइसेंस) Renewal Fees

Contractor Licence Renewal :- पाँच वर्ष की अवधि के बाद पुनः कंडिका 3 में दिये गये शुल्क को जमा कर Contractor Licence Renewal कराया जा सकेगा। नवीकरण के लिये आवेदन पत्र निबंधन समाप्त होने के एक माह पूर्व दिया जाना होगा। Contractor Licence Renewal हेतु आवेदन देने के लिए अनुग्रह अवधि निबंधन समाप्ति की तिथि से एक माह तक होगी। इस अनुग्रह अवधि मात्र में संवेदक निविदा देने के हकदार होंगे ।

ग्रामीण कार्य विभाग के विभिन्न श्रेणी में निबंधित ठेकेदारों को संशोधित निबंधन नियमावली के निर्गत होने की तिथि से एक वर्ष के अन्दर नई नियमावली के अन्तर्गत निबंधन करा लेना होगा अन्यथा उनके पुराने निबंधन एवं नवीनीकरण को अमान्य कर
दिया जायेगा। पुराने निबंधन के लिए जमा की गई शुल्क राशि की छूट नए शुल्क में दी जायेगी। उनसे यह भी अपेक्षा की जायेगी कि वे संशोधित नियमावली में अपेक्षित कागजातों को जमा करें और संशोधित नियमावली की शर्तों को पूरा करें।

Contractor Licence (ठेकेदार लाइसेंस) Renewal

मान लीजिए कि अगर किसी व्यक्ति ने पहले से ही कंडक्टर लाइसेंस बना दिया है और अब वह उसे रिन्यूअल या अपडेट कराना चाहता है, तो उसकी प्रक्रिया निम्न है:-

  • सबसे पहले आपको Rural Works Department Govt. Of Bihar की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है, जिसका लिंक हमने आपको ऊपर इंपॉर्टेंट लिंक सेक्शन में प्रदान किया है |
  • जैसे ही आप इस वेबसाइट पर जाएंगे आपके सामने ओपन हो जाएगा यहां पर से आपको कांट्रेक्टर के टैब पर क्लिक करना है |
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने कुछ और विकल्प दिखाई देंगे जिसमें आपको कांट्रेक्टर रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना है |
  • अब आपको Register/Upgrade new Contractor के आप्शन पर क्लिक करना है |
  • इसके बाद आपको Upgrade Contractor के ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • जैसे आप क्लिक करेंगे आपके सामने कुछ इस प्रकार से पेज ओपन होगा |
  • यहां पर आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर डालना है और इसके बाद आपको अपना पैन कार्ड नंबर डालने के बाद सर्च रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना है |
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने आपका लाइसेंस ओपन हो जाएगा जिसे आप रिन्यूअल करा सकते हैं तथा अगर कोई अपडेट कराना चाहते हैं तो वह भी कर सकते हैं |

ठेकेदार लाइसेंस के नियम

  • ठीकेदारों को पथों एवं पुलों के निर्माणार्थ निम्नलिखित श्रेणी में निबंधित किया जायेगा :-
    • श्रेणी 1 : किसी भी राशि तक के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम।
    • श्रेणी 2 : 3.5 करोड़ रूपये तक के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम ।
    • श्रेणी 3 : 70 लाख रूपये तक के निर्माण कार्य हेतु निविदा देने के लिए सक्षम ।
  • उपर्युक्त श्रेणियों के लिए निबंधन शुल्क निम्न प्रकार होगा :-
    • श्रेणी 1 : 2.00 लाख रूपये
    • श्रेणी 2: 1.00 लाख रूपये
    • श्रेणी 3: 25 हजार रूपये
  • निबंधन 5 वर्षों के लिए अनुमान्य होगा। इस अवधि के दौरान निम्न श्रेणी में निबंधित संवेदक यदि चाहें तो उच्च श्रेणी में अतिरिक्त शुल्क जमा कर निबंधित हो सकते है। ऐसा करने पर उनकी निचली श्रेणी का पंजीकरण स्वतः रद्द समक्षा जाएगा।
  • अभियंता प्रमुख अथवा मुख्य अभियंता से अन्यून कोई पदाधिकारी, जो राज्य सरकार के द्वारा प्राधिकृत किये गये हों, निबंधन पदाधिकारी होंगे एवं पद रिक्त होने की स्थिति में इनसे वरीय पदाधिकारी निबंधन पदाधिकारी होंगे ।
  • उपरोक्त तीनों श्रेणियों के पंजीकृत संवेदक ग्रामीण कार्य विभाग एवं इसके अभिकरण द्वारा कार्यान्वित योजनाओं हेतु सम्पूर्ण बिहार में कहीं भी निविदा डालने के लिये सक्षम होंगे।
  • श्रेणी-1 एवं श्रेणी-2 में निबंधित संवेदक अपनी श्रेणी के अतिरिक्त निकटतम एक निम्न श्रेणी में निविदा डालने के लिए सक्षम होगें।

Bihar Official Social Media

Facebook Follow Me
Telegram Join Now
Bihar Official WebsiteClick Here
Telegram GroupClick Here
Twitter Follow Me
LinkedIn Follow Me

Frequently Asked Questions FAQ

1 Q ठेकेदारी लाइसेंस कैसे बनता है?

Ans आपको इमारत बनाना तथा निर्माण कार्य का अनुभव होना चाहिए |
लाइसेंस बनाने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा |
इसके लिए आपके पास जरूरी दस्तावेज जेसे जीएसटी व पैन कार्ड होना चाहिए |

2 Q कांट्रेक्टर कैसे बने?

Ans कांट्रेक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपको काम करने का अच्छा अनुभव होना चाहिए तथा आपके नीचे कार्य करने वाले लोग भी होने चाहिए, इसके अतिरिक्त यदि आप आधिकारिक रूप से कांट्रैक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कांट्रेक्टर लाइसेंस बनवाना होगा |

3 Q कांट्रैक्टर लाइसेंस कितने में बनता है?

Ans ठेकेदार लाइसेंस के लिए राज्य स्तर व केंद्र स्तर की संस्थाओ के अलग अलग मानक है | अतः इन्हें बनाने के लिए शुल्क भी अलग-अलग प्रकार से लिया जाता है|

4 Q ठेकेदारी का रजिस्ट्रेशन कैसे होता है?

Ans ठेकेदारी का रजिस्ट्रेशन आपके ठेकेदार लाइसेंस के माध्यम से होता है

5 Q ठेकेदार लाइसेंस बनवाने से क्या फायदा होगा ?

Ans यदि आप ठेकेदार लाइसेंस बनवाते हैं तो आपको इससे कई लाभ होंगे जैसे कि आप नए काम के ठेके ले सकते हैं तथा एक आधिकारिक ठेकेदार के रूप में काम कर सकते हैं |

6 Q ठेकेदार लाइसेंस का नवीनीकरण कितने साल के बाद कराना पड़ता है ?

Ans ठेकेदार लाइसेंस का नवीनीकरण 5 साल के बाद कराना पड़ता है |

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम आपतक सबसे पहले अपने इस Website के माधयम से पहुँचआते रहेंगे biharonlineportal.com, तो आप हमारे Website को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद,,,

नीचे दिए गए सोशल मीडिया के आइकॉन पर क्लिक करके आप हमारे साथ जुड़ सकते हैं जिससे आने वाली नई योजना की जानकारी आप तक पहुंच सके|

Leave a Comment