How To Get Apply MSME Loan in Bihar 2020- Can Improve Your Business.

MSME Loan in Bihar

MSME का मतलब अगर देखे तो सूक्ष्म , लघु एवं मध्यम उद्यम के रूप में MSME कहा जाता है , 2006 में बने अधिनियम के अनुसार MSME को निर्धारित किया गया है।

Manufacturing Entreprises –

जिन उद्दोग में नई नई चीज़ो को बनाया जाता है यानि की उनका निर्माण किया जाता है, उनको Manufacturing Entreprises कहते है।

Micro industry – वो सारे उद्योग जिनको Micro industry कहा जाता है जिन इंडस्ट्री में 25 लाख तक की मशीनर लगी होती है और ये 25 लाख से ज्यादा की कीमत की नहीं होती है।

Small industry – मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में कोई भी investment अगर equipment पर किया जाता है, जैसे मशीनरी या कुछ और खरीदने पर उसकी रकम 25 लाख से 5 करोड़ रूपए तक निश्चित की  जाती है।

Medium industry – मध्यम सेक्टर में उन कारोबार को Medium industry कहा जाता है जिन में 5 करोड़ से ले कर 10 करोड़ की आवश्यकता कारोबार के लिए मशीनरी या बाकि equipment खरीदने पर होती है.

Service Enterprises –

सर्विस सेक्टर में मुख्य रूप से सेवा प्रधान करने का कार्य किया जाता है। इस सेक्टर में लोगो को और विभिन संस्थाओ को सर्विस देता है.

Micro industry – सर्विस सेक्टर में जो रकम होती है वो बदल जाती है यहाँ पर जो राशी होती है मशीनरी के लिए वो 10 लाख तक ही होती है।

Small industry – सर्विस सेक्टर में उन कारोबार को Small industry कहा जाता है जिन्हे 10 लाख से लेकर 2 करोड़ की आवश्यकता कारोबार के लिए मशीनरी या बाकि equipment खरीदने की जरूरत रहती है।

Medium industry – मध्यम सेक्टर में उन कारोबार को Medium industry कहा जाता है जिन में 2 करोड़ से ज़ादा पर 5 करोड़ से काम की आवश्यकता कारोबार के लिए मशीनरी या बाकि equipment खरीदने पर होती है.

यह जो ऊपर की परिभाषा है जो MSME के द्वारा 2006 में इस परिभाषा जो केंद्र सरकार ने थोड़ा परिवर्तन किया है। अब अगर देखा जाये तो सरकार का तर्क है की अब Industry को आकार के आधार पर नहीं बल्कि उनके वार्षिक टर्नओवर के आधार पर पहचाना जायेगा।

टर्नओवर के आधार पर जो आंकड़े है वो कुछ ये है की – 

Micro Industry – अगर बात की जाये Micro Industry की तो इसमें आपका टर्नओवर सालाना 5 करोड़ तक होना चाहिए।

Small Industry – अगर बात की जाये Small Industry की तो इसमें आपका टर्नओवर सालाना 5  करोड़ से 75 करोड़ तक होना चाहिए।

Medium Industry – अगर बात की जाये अब Medium Industry की तो इसमें आपका जो सालाना टर्नओवर हो वो करीब 75 करोड़ से 250 करोड़ तक होना चाहिए।

ऊपर बताये गए पात्रता पर जितने भी कारोबार आते है वो सब आसानी से MSME Registration करवा सकते है।

Advantages of MSME Loan Registration – 

  1. इसमें सबसे बड़ा फ़ायदा ये होता हमे बैंको से लोन लेने में आसानी हो जाती है मतलब अब रजिस्ट्रेशन लोड बहुत ही आराम से हो जाता है।
  2. सरकारी टेन्डोर खरीदते है तो उसमे आपको प्राथमिकता मिलेगी।
  3. प्रत्यक्ष कर इनमें कानून के तहत आपको छूट मिलेगी।
  4. अगर आगे चल के आप ISO प्रमाण पत्र लेंगे और कोई भी प्रोडक्ट बनाएंगे तो उसमें आप सब्सिडी के तहत आपको छूट मिलेगी।
  5. मन लीजिये कोई भी लोन लेना हो आपको किसी भी बैंक से तो उस बैंक का जो rate of interest होगा वो भी आपको काम लगेगा बाकि के मुकाबले।
  6. अगर आप बिजली का बिल लेंगे तो रियायत मिलेगी।
  7. ISO प्रमाणन खर्च की प्रतिपूर्ति मिलेगी।
  8. स्टाम्प ड्यूटी जो कुछ भी उसमें आपको कुछ न कुछ लाभ मिलेगा।
  9. निर्माण / उत्पादन सेक्टर एंटरप्राइज के लिए आरक्षण नीतिया होंगी मानलीजिए अगर आप कोई भी manufacturing unit खोलेंगे तो आपको उनमें कुछ न कुछ unit छूट होती है वो अलग मिलेगी।
  10. उड़पत शुल्क छूट योजना के अंतर्गत जो सरकार छूट देती है वो भी यहाँ पर आपको मिले जाएगी।

MSME Loan Registration and Online Form Filling Process –

Step 1

सबसे पहले आप आपने ब्राउज़र मैं official website https://www.udyamimitra.in/ को open करे।

Step 2 

फिर होम पेज पर आ कर आप नीचे आएंगे तो वहा पर आपको MNSE का ऋण (loan for setting up new enterprises or stepping up) पर Apply Now, पर क्लिक करे।

Step 3

क्लिक करने के बाद आपको बताना होगा की आप new entrepreneur है या आप कोई व्यापार कर रहे है existing entrepreneur है या फिर आप self employed professional काम कर रहे है।

 

Step 4

नीचे आप का नाम, ईमेल और मोबाइल नंबर डाल कर Generate OTP पर क्लिक करना होगा।

Step 5

जैसे ही OTP पर क्लिक करेंगे वैसे ही आपके नंबर पर One Time Password आ जायेगे उसको डाल कर verify कर ले और फिर देखेंगे की आपका registration पूरा हो चूका होगा।

Step 6 


यहाँ पर आपसे आपकी Personal details और Professional Details पूछी जाएगी जो की आपको बड़े ध्यान से डालनी होगी।

Step 7 

पहले आएगा Personal Deatails इस पर आपसे पूछा जायेगा की –

आपको अपना ईमेल एड्रेस, जेंडर, स्टेट, डिस्ट्रिक्ट, सिटी/टाउन, पिन कोड, रेजिडेंस टाइप, रिलिजन और मोबाइल नंबर।

नीचे आप से आपकी Professional details पूछी जाएगी जिसमे आपसे आपकी –

एजुकेशन डिटेल्स।, जॉब एक्सपीरियंस , प्रोजेक्ट एम्प्लॉयमेंट स्टेटस , एम्प्लीएड फॉर हाउ लॉन्ग , प्रोजेक्ट ग्रॉस एनुअल इनकम, हैवे यू identified प्रोजेक्ट फॉर यू बिज़नेस , नेचर ऑफ़ identified बिज़नेस, सेक्टर, क्या अपने कभी लोन लिया है , आदि जानकारी आपसे पूछी जाती है।

Step 8 –

फिर आपके सामने Handholding Agencies, Load Enquiry, Loan Application Centre, Knowledge Centre के ओप्तिओंस आएंगे जिसमें से आपको Loan Application Centre पर क्लिक करना है।

Step 9 – 


उसके बाद जितने भी सेमे चल रही होगी जिसके अंटार्कट आपको कितना कितना पैसा मिलेगा वो सब आपको दिखा दिया जायेगा।

  • Mudra Shishu: Loan up to 50000
  • Mudra Kishore: A loan above 50000 & up to 5 lakh
  • Mudra Tarun: Loan above 5 lakh & up to 10 lakh
  • Other MSME: Loan above 10 lakh & up to 10 crore

Step 10 – 


उपर दी गयी जितनी भी सेमे मैं से आपको जिस से भी loan लेना है, आप उसको सेलेक्ट कर सकते है। फिर आपके सामने एक फॉर्म खुल के आ जायेगा उसमें आपसे कुछ जानकारी मांगेगा जैसे की –

 

  • Business information
  • Other Information
  • Attach Document
  • Declarations

Attach Document में क्या क्या लगेगा ?

यहाँ पर Attach Document में कौन-कौन सी फाइल्स लगेगी और उनके Format क्या होने चाहिए।

  1. ID Proof Type – Aadhar card ID Proof File Type Size – png, jpg, jpeg, pdf (Max.250 kb)
  2. Adderess Proof Type – png, jpg, jpeg, pdf (Max. 250 kb)
  3. Applicant Photo – png, jpg, jpeg, pdf (Max. 250 kb)
  4. Proof of Category – png, jpg, jpeg, pdf (Max. 5 MB)
  5. Applicant Signature – png, jpg, jpeg, pdf (Max.250 kb)

MSME or Small Business Loan – 

अभी हाल ही में सरकार के द्वारा एक पोर्टल की सुरुवात की गयी है जिसकी मदद से हम अब घर बैठे बहुत ही आसानी से अपने लघु उद्योग के लिए लोन ले सकते है। इस योजना के बारे मैं जानने से पहले ये जान लीजिये की ये जोयना कब और किसके द्वारा घोषित की गयी है।

  • योजना (Scheme) – small business loan
  • घोषणा किसने की – Arun Jetley
  • दिनांक – 2016
  • वेबसाइट – https://www.udyamimitra.in/

Small Business Loan Scheme के लाभ –

पहले लोन लेने के लिए हमें बैंक मैं कई सरे कागज़ात और पता नहीं क्या क्या जमा करवाना पढता था पर अब सब कुछ ऑनलाइन हो जाने के बाद लोन लेना और भी आसान हो गया है क्योकि MSME के लिए आवेदन से जो लोन मिलेगा उसके लिए कागज़ात की जरूरत कम पड़ती है।

इस पोर्टल की खास बात यह है की यहाँ पर आपको इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा यहाँ पर आप जैसे ही आवेदन करेंगे उसके बाद आपके डॉक्यूमेंट verifie किये जायेगे और फिर verified करने के बाद आपको बता दिया जायेगा की आप लोन लेने के लिए योग्य है या नहीं।

इसमें आपको बैंक की लिस्ट भी दी जाएगी जिस से आप सेलेक्ट कर सकते है की आपको किस बैंक से लोन लेना है।

Bank List of MSME Small Business Loan

अब यहाँ पर central govt. द्वारा एक बैंक की सूचि तैयार की जाएगी जिसमें कई बैंको के नाम होंगे –

  • SBI
  • Punjab Bank
  • Indian bank
  • Allhabad Bank
  • Bank of India
  • Central Bank
  • Syndicate bank
  • UNO Bank
  • Union bank
  • IDBI Bank

Required Document for MSME Registration

MSME registration करवाने के लिए हमे कुछ जरूरी दस्तावेज चाहिए होते है तो वो जान लेते है –

  • पैन कार्ड
  • पहचान प्रमाण पत्र के लिए (आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट , 10th की मार्कशीट)
  • पासपोर्ट फोटो

Other Documents –  

अगर आप किराये की संपति पर उद्दोग करते है तो किराया समझौता का दस्तावेज

  • अगर आपकी खुद की संपति है तो जमीन के दस्तावेज (power of oterny)
  • एफिडेविट
  • घोषणा दस्तावेज
  • NOC
  • 2 guarantor के लिए व्यक्ति और उनकी ID

Business Loan and it types

लोन का मतलब सिंपल भाषा में ये ही होता है की किसी से कुछ समय के लिया पैसा उधार पर लेना और Business loan 2 प्रकार के होते है –

  • Secured Business Loan
  • Unsecured Business Loan

Secured Business Loan –

Secured Business Loan वह होता जब कोई व्यक्ति अपनी प्रॉपर्टी बैंक के पास या किसी कंपनी के पास गिरवी रख देते है और उस के बदले लोन ले लेते है वह सिक्योर्ड बिज़नेस कहलाते है। इस तरह का लोन आपको तभी दिया जायेगा जब आप जो प्रॉपर्टी गिरवी रखवाएंगे उसकी वैल्यू या कीमत आपके मांगे गए लोन की वैल्यू के बराबर हो या थोड़ा ज़ादा तभी आपको लोन दिया जायेगा।

यहाँ पर बैंक और प्रॉपर्टी गिरवी रखवाने वाले के बीच में यह तेह होता है की किसी कारन वो व्यक्ति लोन चुकाने में असफल हो जाता है तो बैंक द्वारा उसकी प्रॉपर्टी नीलम कर लोन की कीमत वसूल ली जाएगी।

Unsecured Business Loan

Unsecured Business Loan वह होता है जिसमें आपको अपनी कोई भी प्रॉपर्टी को गिरवी नहीं रखना होता है बिना कुछ भी गिरवी रखे आपको लोन दिया जाता है।

इस प्रकार का लोन बैंक के द्वारा नहीं बल्कि नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी प्रदान करती है। और सरकार अतर पर MSME के लिए बनाई गयी योजना के द्वारा बैंको के जरिये भी लोन मिलता है.

यहाँ पर NBFC कंपनियां बिना प्रॉपर्टी के लोन देने से पहले आपका क्रेडिट स्कोर (CIVIL score) को देखती है क्युकी इसकी बहुत बड़ी भूमिका होती है. सब कुछ सही होने के बाद अगर आपका क्रेडिट स्कोर ठीक हुआ तो आपको business loan दिया जाता है वो भी बहुत कम कागज़ात पर ही।

Importance of unsecured loan – 

हर बिज़नेस में ऐसा होता है की आये दिन कुछ न कुछ मशीन में ख़राबी होता रहता है तो उस खराबी से हमारे काम पर कोई दिकत न आये तो नई मशीन की जरूरत होती है।

ऐसी condition में जरूरी तो नहीं की कारोबारी के पास पैसा इकठ्ठा रखा हो , क्युकी अक्सर व्यापारी लोग अपना कारोबार rotating money से ही करते है और बाकि जो होता है वो मार्किट में लगा देते है जिससे पैसा होते हुआ भी उस वक़्त पर उनके पास नहीं होता है। इसी situation को overcome करने के लिए काम आता है बिना कुछ गिरवी रखे insecured loan.

What document required for unsecured loan –

  1. बिज़नेस जो हो वो कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए।
  2. बिज़नेस का जो annual turnover करीब 5 लाख रुपये से ज़ादा ही होना चाहिए उससे कम नहीं।
  3. ITR जो पिछले साल भरी गयी हो वो 1.5 लाख या उससे अधिक की होनी चाहिए।
  4. घर या जहाँ आप बिज़नेस कर रहे है इन दोनों में से कोई एक जगह आपके खुद के नाम पर होनी चाहिए।

Fact Noted – 

  1. यह लोन आपको बहुत जल्दी मिल जाता है सिर्फ 3 दिन में  ही अगर पेपर कम्पलीट हो तो ही।
  2. हम लोन के लिए घर बैठे भी apply कर सकते है।
  3. Loan की रकम आप 6 महीने से लेकर 24 महीने के बीच में वापिस कर सकते है।

इसके बारे में भी पड़े- 

आपको अब पता चल गया होगा की आप किस तरह MSME Loan के लिए apply कर सकते है, अब बात कर लेते है आपके सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले प्रश्न के बारे में,

MSME Loan Question – F&Q

Q1. क्या MSME लोन प्राप्त करने के लिए MSME के लिए क्रेडिट स्कोर जरूरी होते है?

Ans. हाँ , क्रेडिट स्कोर बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्यों की NBFC कम्पनिया देने से पहले आपका क्रेडिट स्कोर जरूर दखती है।

 

Q2. मंत्रालय द्वारा प्रदान किए गए टूल-रूम का क्या लाभ है?

Ans. MSME मंत्रालय MSME उद्यमों को उच्च-तकनीकी टूल-रूम प्रदान करता है ताकि उनके उत्पाद और सेवाएँ बाज़ार में अपने लिए एक स्थान बना सकें।

 

Q3. MSME Registration कितने टर्नओवर के आधार पर करा सकते है?

Ans. Micro Industry –  के लिए आपका टर्नओवर सालाना 5 करोड़ तक होना चाहिए।

Small Industry – अगर बात की जाये Small Industry की तो इसमें आपका को टर्नओवर सालाना 5 करोड़ से 75 करोड़ तक होना चाहिए।

Medium Industry – अगर बात की जाये Medium Industry की तो इसमें आपका जो सालाना टर्नओवर होना चाहिए वो करीब 75 करोड़ से 250 करोड़ तक होना चाहिए।

 

Q4. MSME Registration करने की official website क्या है?

Ans. MSME Registration करने की official website link – https://www.udyamimitra.in/ यह है।

 

Q5. MSME Small Business Loan की घोषणा किसने की और कब की थी?

Ans. Small Business Loan की घोषणा Arun Jetley ने 2016 में की थी।

Q6. MSME Registration करने के लिए Required Document ?

Ans. आपका पैन कार्ड और पहचान प्रमाण पत्र के लिए (आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट , 10th की मार्कशीट) और एक पासपोर्ट फोटो होना अनिवार्य है

 

Q7. Business Loan कितने प्रकार के होते है?

Ans. Business Loan दो प्रकार के होते है।

  • Secured Business Loan
  • Insecured Business Loan

अगर आपको इनके बारे में विस्तार से पढ़ना है तो आपको ऊपर पूरी जानकारी दी गयी है।

 

Q8. क्या MSME प्रमाणपत्र की कोई वैधता (validity) होती  है?

Ans. हाँ इसकी validity 5 साल तक की होती है।

Q9. MSME Loan से आपको किस तरह फायदा होगा?

Ans. भारत सरकार द्वारा MSME Loan की घोसणा इस लिए की गयी थी जिन लोगो का उध्योग व्यवसाय है उन लोगो को Lockdown में नुकसान हुआ है इसीलिए भारत सरकार उद्योग व्यापारी को MSME के द्वारा loan दे रही है।

 

Q10. MSME का मतलब क्या होता है? – MSME Full Form

Ans. MSME का मतलब – Micro, Small & Medium Enterprises होता है यह MSME की Full Form है।

 

Q11. MSME में कौन-कौन से व्यवसाय आते है?

Ans. MSME में Service और Manufacturing दोनों तरह के व्यवसाय आते है।

 

Q12. MSME Loan लेने की क्या कोई limit है?

Ans. वैसे तो MSME Loan लेने की कोई limit नहीं है पर यह आपके Business पर depend करता है आप कितना loan लेने के लिए eligible है आपके business के अनुसार ही आपके loan की रकम तय की जाती है।

 

Q13. MSME Loan लेने की Last Date क्या है?

Ans. MSME Loan लेने की Last Date – 31st oct 2020 है।

 

Q14. प्रांतीय रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (PRC) की वैधता कितनी है?

Ans.  प्रांतीय रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (PRC) की वैधता 5 वर्ष है।

 

Q15. MSME Registration कैसे करे?

Ans. MSME Registration करने के लिए आप इसकी Official Website –  https://www.udyamimitra.in/ पर जा कर Registration कर सकते है और यदि आपको इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है तो आप अपने नजदीकी computer center पर जाकर यह form भरवा सकते है।

Leave a Comment